32.6 C
Gujarat
Sunday, October 2, 2022
- Advertisement -

CATEGORY

Aarti

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की – Kunjbihari, Shri Giridhar Krishna Murari Aarti in Hindi

।।आरती।। आरती कुंजबिहारी की,श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥आरती कुंजबिहारी की,श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥ गले में बैजंती माला,बजावै मुरली मधुर बाला ।श्रवण में कुण्डल...

श्री जगन्नाथ संध्या आरती – Shree Jagannath Sandhya Aarti in Hindi

।।आरती।। अनंत रूप अन्नांत नामअनंत रूप अन्नांत नाम,अनंत रूप अन्नांत नाम,आधी मूला नारायाणाआधी मूला नारायाणा अनंत रूप अन्नांत नाम,अनंत रूप अन्नांत नाम,आधी मूला नारायाणाआधी मूला नारायाणा विस्वा...

श्री बृहस्पति देव की आरती – Shri Brihaspati Dev Aarti in Hindi

हिन्दू धर्म में बृहस्पति देव को सभी देवताओं का गुरु माना जाता है। गुरुवार के व्रत में बृहस्पति देव की आरती करने का विधान...

जय सन्तोषी माता आरती – Jai Santoshi Mata Aarti in Hindi

।।आरती।। जय सन्तोषी माता,मैया जय सन्तोषी माता ।अपने सेवक जन की,सुख सम्पति दाता ॥ जय सन्तोषी माता,मैया जय सन्तोषी माता ॥ सुन्दर चीर सुनहरी,मां धारण कीन्हो ।हीरा...

महादेव आरती – Mahadev Aarti in Hindi

गणेश उत्सव मे सर्वमान्य श्री गणेश आरती का अपना अलग ही महत्व है: ।।आरती।। सत्य, सनातन, सुंदर,शिव! सबके स्वामी ।अविकारी, अविनाशी,अज, अंतर्यामी ॥ॐ हर हर हर...

श्री गणेश आरती – Shree Ganesh Aarti in Hindi

गणेश उत्सव मे सर्वमान्य श्री गणेश आरती का अपना अलग ही महत्व है: ।।आरती।। जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥ एक दंत...

शिव आरती – ॐ जय गंगाधर | Shiv Aarti – Om Jai Gangadhar in Hindi

II शिव आरती II ॐ जय गंगाधर जय हर,जय गिरिजाधीशा ।त्वं मां पालय नित्यं,कृपया जगदीशा ॥ॐ हर हर हर महादेव ॥ कैलासे गिरिशिखरे,कल्पद्रुमविपिने ।गुंजति मधुकरपुंजे,कुंजवने गहने...

शिव आरती – ॐ जय शिव ओंकारा | Shiv Aarti – Om Jai Shiv Omkara in Hindi

भगवान शिव जिन्हें शंकर, भोलेनाथ, महादेव के संबोधन से भी पुकारा जाता है। इनकी स्तुति मुख्यता साप्ताहिक दिन सोमवार, मासिक त्रियोदशी तथा प्रमुख दो...

हनुमान आरती ~ Hanuman Aarti in Hindi

श्री हनुमान जन्मोत्सव, मंगलवार व्रत, शनिवार पूजा, बूढ़े मंगलवार और अखंड रामायण के पाठ में प्रमुखता से गाये जाने वाली श्री हनुमान आरती है। ।।आरती।। आरती...

श्री जगन्नाथ आरती – चतुर्भुज जगन्नाथ – Shree Jagannath Aarti – Chaturbhuj Jagannath in Hindi

।।आरती।। चतुर्भुज जगन्नाथकंठ शोभित कौसतुभः ॥ पद्मनाभ, बेडगरवहस्य,चन्द्र सूरज्या बिलोचनः जगन्नाथ, लोकानाथ,निलाद्रिह सो पारो हरि दीनबंधु, दयासिंधु,कृपालुं च रक्षकः कम्बु पानि, चक्र पानि,पद्मनाभो, नरोतमः जग्दम्पा रथो व्यापी,सर्वव्यापी सुरेश्वराहा लोका राजो, देव...

Latest news

- Advertisement -